सामाजिक विज्ञान और गणित का पुनः संशोधित परिणाम घोषित

जयपुर/अजमेर. राजस्थान लोक सेवा आयोग ने अध्यापक ग्रेड-सेकेंड (माध्यमिक शिक्षा) प्रतियोगी परीक्षा, 2011 गणित व सामाजिक विज्ञान के संशोधित परिणाम मंगलवार को तीसरी बार जारी किए। आयोग के इतिहास में यह पहला अवसर है जब किसी प्रतियोगी परीक्षा का परिणाम तीन बार जारी हुआ हो। आयोग ने कोर्ट के आदेश पर ये परिणाम घोषित किए हैं। गणित विषय में 2193 और सामाजिक विज्ञान में 2250 अभ्यर्थी सफल घोषित किए हैं। (परिणाम यहां देखें) आयोग ने इन परीक्षाओं के परिणाम पहली बार 05 मार्च 12 एवं संशोधित परिणाम 20 सितंबर 12 को घोषित किए थे। अभ्यर्थी इन परिणामों से संतुष्ट नहीं हुए और कोर्ट की शरण ली। अब आयोग ने पूर्व में जारी दोनों परिणामों के अतिक्रमण में हाईकोर्ट द्वारा 15 दिसंबर को एसबी सिविल रिट याचिका सं$ 15638/12 एवं 50 अन्य याचिकाओं में पारित आदेश के अनुपालन में संशोधित परिणाम जारी किए हैं। आयोग ने इस संशोधित परिणाम सूची में सम्मिलित अभ्यर्थियों की वरीयता सूची भी जारी की है। यह सूची पूर्णतया अस्थाई, अनंतिम है। 4 जनवरी तक पूर्ण आवेदन आयोग उपसचिव आरएल सोलंकी के मुताबिक अस्थाई रूप से सफल घोषित अभ्यर्थी परीक्षा का विस्तृत आवेदन पत्र आयोग की वेबसाइट प्राप्त कर उसे पूर्ण रूप से भरकर मय समस्त शैक्षणिक, जाति एवं वांछित प्रमाण-पत्रों की फोटो प्रति के साथ 4 जनवरी 2013 को शाम 6 बजे तक आवश्यक रूप से आयोग कार्यालय में जमा करवा दें। इन पदों के लिए पूर्व में जिन अभ्यर्थियों ने विस्तृत आवेदन पत्र भिजवाए हैं, उन्हें पुन: आवेदन पत्र भिजवाने की आवश्यकता नहीं है। आवेदन पत्र प्राप्त होने के पश्चात् इनकी पात्रता आंकी जाएगी। समस्त अभ्यर्थियों के संशोधित प्राप्तांक यथाशीघ्र आयोग की वेबसाइट पर जारी किए जाएंगे। परिणाम की शेष शर्तें पूर्वानुसार यथावत रहेंगी। उपसचिव के मुताबिक ये परिणाम रिट याचिका संख्या 330/12 नरेश कुमार मीणा बनाम आयोग व अन्य और इसी प्रकार की याचिकाओं में पारित निर्णय के विरुद्ध आयोग द्वारा हाईकोर्ट में दायर स्पेशल अपील/ रिव्यू याचिका के अध्यधीन रहेगा। 303 पदों के परिणाम शेष आयोग ने गणित और सामाजिक विज्ञान विषयों के लिए प्रत्येक के लिए 2 हजार 373 पदों के लिए परीक्षा आयोजित की थी। दोनों विषयों के लिए कुल 4 हजार 746 पदों के लिए परीक्षा हुई थी। इसमें से आयोग ने आज 4 हजार 443 पदों के ही परिणाम जारी किए हैं। अब गणित विषय के 180 और सामाजिक विज्ञान विषय के 123 अर्थात कुल 303 पद और रिक्त रह गए हैं। आयोग सूत्रों के मुताबिक अभी कोर्ट में कुछ प्रकरण लंबित हैं। इसके बाद ही इनके परिणाम घोषित होंगे।